UP – Medical Education Fees Hike – Committee submitted report by making proposal on demand of private colleges, government may take decision soon | निजी कॉलेजों की मांग पर प्रस्ताव बनाकर कमेटी ने सौंपी रिपोर्ट, सरकार जल्द ले सकती है फैसला

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • UP Medical Education Fees Hike Committee Submitted Report By Making Proposal On Demand Of Private Colleges, Government May Take Decision Soon

लखनऊ34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
यूपी में जल्द ही मेडिकल के यूजी व पीजी कोर्स की पढ़ाई के शुल्क में भी इजाफा हो सकता है - प्रतीकात्मक चित्र - Dainik Bhaskar

यूपी में जल्द ही मेडिकल के यूजी व पीजी कोर्स की पढ़ाई के शुल्क में भी इजाफा हो सकता है – प्रतीकात्मक चित्र

यूपी में चिकित्सा के बढ़ते खर्च के बीच अब मेडिकल की पढ़ाई में भी शुल्क वृद्धि पर विचार किया जा रहा है।निजी कॉलेजों के संचालक लंबे समय से इसकी मांग कर रहे हैं।शासन द्वारा गठित की गई कमेटी ने प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेज दिया है।अब प्रदेश में मेडिकल की पढ़ाई का महंगा होना लगभग तय माना जा रहा है।हालांकि इस पूरे मामलें में अंतिम फैसला सरकार को लेना है और यही कारण है कि फिलहाल इसकी औपचारिक पुष्टि निजी कॉलेज संचालक नही कर रहे है।

विभागीय कमेटी ने प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा

दरअसल प्रदेश में निजी कॉलेजों के संचालक लंबे अरसे से मेडिकल के यूजी व पीजी दोनों ही पाठ्यक्रमों में फीस बढ़ाने पर जोर डाल रहे थे। इस बीच चिकित्सा शिक्षा विभाग की कमेटी ने सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है। अब सरकार से प्रस्ताव की मुहर लगने की इंतजार कर रहेसंचालक इसी सत्र से इसे लागू करने की फिराक में है।इस बीच 12 सितंबर को ही देशभर में NEET परीक्षा का आयोजन हुआ था। जल्द रिजल्ट जारी होने के बाद ही काउंसलिंग शुरू होगी। कयास यह भी लगाएं जा रहे है कि उससे पहले इस कमेटी द्वारा भेजे गए प्रस्ताव पर फैसला आ सकता है।

इनकी अगुवाई में बनी कमेटी

यूपी के प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों ने शुल्क बढ़ोतरी की सरकार ने मांग रखी थी। इसको लेकर प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक, वित्त अधिकारी की कमेटी बनाई गई थी। कमेटी ने फिलहाल एक साल की फीस तय करने पर विचार किया। कमेटी सदस्यों ने 5 से 7 फीसदी शुल्क बढ़ोतरी का प्रस्ताव शासन को भेजा है। ऐसे में प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में सालभर में 50 हजार से लेकर 80 हजार तक का शुल्क बढ़ सकता है। संयुक्त निदेशक चिकित्सा शिक्षा डॉ. बीडी सिंह के मुताबिक, कितनी फीस बढ़ेगी, यह सरकार को फैसला करना है। कमेटी ने प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है।

यूपी के 9 जिलों में खुलें है नए मेडिकल कॉलेज

प्रदेश में नौ सरकारी कॉलेजों का जल्द लोकार्पण होगा. इनमें प्राचार्यों की नियुक्ति हो गई है। शिक्षकों व कर्मियों की भर्ती के तत्काल निर्देश दिए गए हैं। यह कॉलेज एटा, हरदोई, सिद्धार्थनगर, देवरिया, गाजीपुर, प्रतापगढ़, फतेहपुर, जौनपुर और मिर्जापुर में हैं।

खबरें और भी हैं…