science and applied research: Science and Research: साइंस और रिसर्च के लिए बेस्ट हैं ये संस्थान, जानें कैसे होता है एडमिशन – science and research best institutes in india, admission process

हाइलाइट्स

  • जानें साइंस और रिसर्च के लिए बेस्ट संस्थान
  • कौन-सा कोर्स करना है अच्छा?
  • किस जॉब में मिलेगी कितनी सैलरी?

Science And Research Jobs: आईआईटी हर इंजीनियरिंग कैंडिडेट का पहला लक्ष्य होता है। हर साल देशभर के 10 लाख कैंडिडेट्स में से 16 हजार स्टूडेंट्स इसमें अपनी जगह बनाते हैं। लेकिन सिर्फ आईआईटी के पीछे भागते रहना सही नहीं है। अगर करियर की बात करें तो आईआईटी से अलग करियर विकल्प और भी हैं। कैंडिडेट्स के लिए यह समझना बहुत जरूरी है कि अपना उचित लक्ष्य तय करें और आईआईटी के अलावा अच्छे संस्थानों की प्रवेश प्रक्रिया के बारे में जानें।

इंडियन इंस्टीच्युट ऑफ साइंस, बैंगलोर
370 एकड़ में फैले बैंगलोर के इस संस्थान की स्थापना 1909 में भारत सरकार ने जमशेदजी टाटा और मैसूर महाराज के सहयोग से किया। यहां बैचलर ऑफ साइंस की पढ़ाई होती है। पहले 18 महीने यानी 3 सेमेस्टर सभी विद्यार्थी फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स, बायोलॉजी, इंजीनियरिंग और ह्यूमेनिटी की पढ़ाई करते हैं फिर स्पेशलाइजेशन करते हैं। एडमिशन 12वीं के बाद केवीपीवाई से किशोर वैज्ञानिक प्रतिभा योजना पास कर, जेईई मेन, जेईई एडवांस्ड या फिर नीट के माध्यम से ले सकते हैं। ट्यूशन फीस – जेनरल, ओबीसी के लिए 10 हजार सालाना, एससी, एसटी के लिए पूरी फीस माफ है। यहां कुल सीट -120 है।
इसे भी पढ़ें: Tips For Entrepreneurs: सफल आंत्रप्रेन्योर बनने के लिए अपनाएं ये टिप्स, बढ़ेगा बिजनेस

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च
साइंस एजुकेशन, रिसर्च एंड ट्रेनिंग के लिए बेस्ट रिसोर्स तैयार करने के लिए एमएचआरडी की ओर से आईआईएसईआर की स्थापना की गई। यह संस्थान भोपाल, बरहमपुर, कोलकाता, कोहाली, पुणे, तिरुअनंतपुरम और तिरुपति में भी है। यहां कुल सीट -1734 है। इन संस्थानों में सभी जगह बीएस-एमएस डिग्री प्रोग्राम की पढ़ाई होती है। ये पांच साल का डिग्री प्रोग्राम है जिसमें पहले दो साल बेसिक साइंस के कोर कोर्स कराए जाते हैं। तीसरा और चौथा साल स्पेशलाइजेशन कराया जाता है और पांचवें साल में रिसर्च पर फोकस होता है। बीएस डिग्री – सिर्फ भोपाल में है।

इन संस्थानों में एडमिशन प्रक्रिया

  • केवीपीवाई के आधार पर- इसके लिए एप्लीकेशन 31 अगस्त 2021 तक उपलब्ध है।
  • जेईई एडवांस्ड के आधार पर टॉप 15 हजार रैंक वालों के लिए
  • आईआईएसईआर एप्टीट्यूट टेस्ट – एससीबी चैनल के आधार पर – एप्लीकेशन 31 अगस्त 2021 तक
  • आईआईएसईआर एप्टीट्यूट टेस्ट- परीक्षा 16 सितंबर

इसे भी पढ़ें: Exam Tips: GMAT और GRE जैसे एग्जाम में होती हैं ये 10 गलतियां, ऐसे करें तैयारी

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी- तिरुवंतपुरम
रिसर्च और आउटर स्पेस के लिए आईआईएसटी एशिया की पहली यूनिवर्सिटी है जिसकी स्थापना 2007 में हुई। यहां कुल सीट 154 है। 2021 में दाखिला 12वीं या फिर जेईई एडवांस्ड के आधार पर होगा। इंफॉर्मेशन ब्रोशर 1 अगस्त से उपलब्ध होगा।
कोर्स

  • 4 साल बीटेक -एरोस्पेस इंजीनियरिंग
  • 4 साल बीटेक इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग
  • 5 साल डुएल डिग्री बीटेक प्लस मास्टर ऑफ साइंस मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी

नेशनल इंस्टीच्युट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च मुंबई और भुवनेश्वर
साइंस के क्षेत्र में मेधावी विद्यार्थी को ट्रेनिंग देने के लिए इसकी स्थापना 2007 में की गई। ये होमी जहांगीर भाभा इंस्टिट्यूट का ऑफ कैंपस सेंटर है। संस्थान में 5 साल इंटीग्रेटेड एमएससी प्रोग्राम इन बेसिक साइंस, बायोलॉजी, केमेस्ट्री, मैथेमेटिक्स और फिजिक्स की पढ़ाई होती है। भुवनेश्वर में कुल सीट 200 और मुंबई में 57 कुल सीट उपलब्ध हैं। एडमिशन एनईएसटी टेस्ट के माध्यम से ले सकते हैं। एनईएसटी का आयोजन – 14 अगस्त को होगा। इसके लिए आवदेन करने की अंतिम तारीख 15 जुलाई तक है। एग्जाम कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट है।