Political Event – बढ़ती महंगाई और जन विरोधी निर्णयों पर कांग्रेस तल्ख

नाहन में अतिरिक्त उपायुक्त को राज्यपाल के नाम मांग पत्र सौंपते कांग्रेस नेता।

नाहन में अतिरिक्त उपायुक्त को राज्यपाल के नाम मांग पत्र सौंपते कांग्रेस नेता।
– फोटो : NAHAN

ख़बर सुनें

नाहन(सिरमौर)। जिला कांग्रेस कमेटी ने बढ़ती महंगाई और बाहरी राज्यों के युवाओं को नौकरी देने पर कड़ी आपत्ति जताई है। जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय बहादुर सिंह के नेतृत्व में इस सिलसिले में मंगलवार को कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने अतिरिक्त उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल को एक ज्ञापन भेजा।
कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने कहा कि जयराम सरकार युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ हर क्षेत्र में विफल रही है। ऊपर से बाहरी राज्यों के युवाओं को प्रदेश में नौकरी देना बेहद चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि महंगाई चरम सीमा पार कर चुकी है और सरकार मूकदर्शक बनी हुई है। उन्होंने कहा कि इससे सरकार की मंशा साफ जाहिर हो रही है कि आने वाले समय में नौकरी के साथ-साथ प्रदेश की भूमि को बाहरी राज्यों के उद्योगपतियों को बेच कर हिमाचल की संस्कृति को आघात लगने का अंदेशा है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की दमनकारियों नीतियों का प्रदेश की जनता 2022 के चुनाव में जवाब देगी। इस अवसर पूर्व विधायक किरनेश जंग चौधरी, प्रदेश महासचिव अजय सोलंकी, आशिक अली, इकबाल मोहम्मद, कुंजना सिंह, कविता सिंह, मंडल अध्यक्ष ज्ञान चंद, नसीम मोहम्मद दीदान, मित्र सिंह तोमर, सतीश्वर शर्मा, यशवंत ठाकुर, साहिल, संदीप शर्मा, उपमा धीमान, आशा शर्मा लता भारद्वाज, सविता वशिष्ठ, बिलकीश, जियालाल, बलराज, चैन सिंह, राकेश चौधरी, जाकिर, मंजित, मोहब्ब्त अली, प्रेम, बलदेव, सुरजीत, जोगीराम शर्मा, वीर सिंह, रविंद्र तोमर, मनू शर्मा, योगेश, विक्रम शर्मा, सुरेंद्र सिंह, देवराज, कमलजीत शर्मा और मंजूर अली खान सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

नाहन(सिरमौर)। जिला कांग्रेस कमेटी ने बढ़ती महंगाई और बाहरी राज्यों के युवाओं को नौकरी देने पर कड़ी आपत्ति जताई है। जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय बहादुर सिंह के नेतृत्व में इस सिलसिले में मंगलवार को कांग्रेस पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने अतिरिक्त उपायुक्त के माध्यम से राज्यपाल को एक ज्ञापन भेजा।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने कहा कि जयराम सरकार युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ हर क्षेत्र में विफल रही है। ऊपर से बाहरी राज्यों के युवाओं को प्रदेश में नौकरी देना बेहद चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि महंगाई चरम सीमा पार कर चुकी है और सरकार मूकदर्शक बनी हुई है। उन्होंने कहा कि इससे सरकार की मंशा साफ जाहिर हो रही है कि आने वाले समय में नौकरी के साथ-साथ प्रदेश की भूमि को बाहरी राज्यों के उद्योगपतियों को बेच कर हिमाचल की संस्कृति को आघात लगने का अंदेशा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की दमनकारियों नीतियों का प्रदेश की जनता 2022 के चुनाव में जवाब देगी। इस अवसर पूर्व विधायक किरनेश जंग चौधरी, प्रदेश महासचिव अजय सोलंकी, आशिक अली, इकबाल मोहम्मद, कुंजना सिंह, कविता सिंह, मंडल अध्यक्ष ज्ञान चंद, नसीम मोहम्मद दीदान, मित्र सिंह तोमर, सतीश्वर शर्मा, यशवंत ठाकुर, साहिल, संदीप शर्मा, उपमा धीमान, आशा शर्मा लता भारद्वाज, सविता वशिष्ठ, बिलकीश, जियालाल, बलराज, चैन सिंह, राकेश चौधरी, जाकिर, मंजित, मोहब्ब्त अली, प्रेम, बलदेव, सुरजीत, जोगीराम शर्मा, वीर सिंह, रविंद्र तोमर, मनू शर्मा, योगेश, विक्रम शर्मा, सुरेंद्र सिंह, देवराज, कमलजीत शर्मा और मंजूर अली खान सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।