ISSF Jr. World Championship: 16 साल की इशा सिंह का शानदार खेल, मनु भाकर ने भी गोल्ड से की वापसी | Manu Bhaker clinches Gold Esha Singh bags Silver in ISSF Junior World Championships

ISSF Jr. World Championship: 16 साल की इशा सिंह का शानदार खेल, मनु भाकर ने भी गोल्ड से की वापसी

10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट जीतने के बाद मनु भाकर और इशा सिंह

हरियाणा की इशा सिंह (Esha Singh) देश की सबसे युवा नेशनल शूटिंग चैंपियन हैं. उन्होंने साल 2018 में 13 साल की उम्र में मनु भाकर और हिना सिद्धु को हराकर नेशनल चैंपियनशिप जीती

TV9 Hindi

  • TV9 Hindi
  • Updated On – 2:26 pm, Fri, 1 October 21Edited By: रिया कसाना
    Follow us – google news

भारतीय निशानेबाजों ने पेरू में आयोजित हो रही जूनियर आईएसएसएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप (ISSF World Championship) में शानदार प्रदर्शन किया है. टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympic) में मेडल से चूकने वाली मनु भाकर (Manu Bhaker) ने  गोल्ड मेडल हासिल किया. उन्हीं के इवेंट में 16 साल की इशा सिंह ने भी शानदार खेल दिखाते हुए सिल्वर मेडल अपने नाम किया. पुरुषों रुद्रांक्ष पाटिल ने पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में बुधवार को सिल्वर मेडल जीता. भारत की महिला स्कीट निशानेबाज गनीमत सेखों ने आईएसएसएफ जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता.

पाटिल ने आठ निशानेबाजों के फाइनल में 250.0 अंक बनाये और वह टोक्यो ओलिंपिक के पदक विजेता अमेरिका विलियम शानेर से पीछे रहे. पाटिल ने आठ निशानेबाजों के फाइनल में 250.0 अंक बनाये और वह टोक्यो ओलिंपिक के पदक विजेता अमेरिका विलियम शानेर से पीछे रहे. महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में रमिता ने 229.1 अंक के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता. मेहुली घोष पांचवें और निशा कंवर आठवें स्थान पर रही. पुरुषों की दस मीटर एयर पिस्टल में भारत के नवीन चौथे, सरबजोत सिंह छठे और विजयवीर सिद्धू आठवें स्थान पर रहे. वहीं पुरुषों की स्कीट में भारत के राजवीर गिल, अभय सिंह सेखों और आयुष रूद्रराजू में से कोई फाइनल में नहीं पहुंच सका.

16 साल की इशा के नाम हुआ सिल्वर

भारतीय जूनियर शूटर्स ने दक्षिण अमेरिकी देश पेरु की राजधानी में चल रही इस प्रतियोगिता में काफी दबदबा बनाया है. महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टर स्पर्धा के क्वालिफिकेशन के बाद भारत की ओर से तीन खिलाड़ियों ने फाइनल में जगह बनाई. रिदम सांगवान दूसरे, मनु भाकर तीसरे, ईशा सिंह पांचवे और शिखा नरवाल सांतवें स्थान पर रहीं थीं. मनु शुरुआत से ही टॉप पर रहीं, और आखिरकार 241.3 के स्कोर के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया. टोक्यो ओलिंपिक के बाद गोल्ड के साथ वापसी से उनका आत्मविश्वास बढ़ा होगा.

वहीं 16 साल की युवा शूटर ईशा सिंह ने 240 के स्कोर के साथ सिल्वर मेडल जीता. इशा को टोक्यो ओलिंपिक के कोर टीम में चुना गया था लेकिन उन्हें फाइनल 15 निशानेबाजों की टीम में जगह नहीं मिली थी. साल 2018 में इशा ने नेशनल चैंपियनशिप में मनु भाकर और दिग्गज हिना सिद्धु को मात देकर 10 मीटर एयर पिस्टल की कैटगरी में गोल्ड जीता था. उस समय उनकी उम्र महज 13 साल ही थी. वह देश की सबसे युवा नेशनल चैंपियन बनी थी. साल 2019 में जर्मनी में हुए जूनियर वर्ल्ड कप में भी उन्होंने सिल्वर मेडल जीता था.

IPL 2021: संजय मांजरेकर ने फिर से रवींद्र जडेजा को निशाने पर लिया, बैटिंग में निकाली कमियां, कही ऐसी बात