Home personal and car loan protection plan benefits for customer know how – Business News India

आम आदमी की जिंदगी में पर्सनल, होम या कार लोन एक बड़ा फैसला होता है। लोन की रकम जितनी ज्यादा होती है, सैलरी से किस्त भी उतनी ही बड़ी कटती है। अगर घर के कमाऊ सदस्य, जिसके नाम पर होम लोन है, की किसी वजह से मृत्यु हो जाती है तो परिवार के लिए लोन एक मुसीबत बन जाती है।

परिवार को चलाने से लेकर घर की किस्त तक का बोझ अन्य सदस्यों पर पड़ जाता है। परिवार को इस मुसीबत से बचाने के लिए लोन पर बीमा करा लेना समझदारी है। ये बीमा लोन प्रोटेक्शन स्कीम के तहत दिया जाता है। इसके जरिए आपके बाद परिवार को लोन की बकाया रकम चुकाने की टेंशन नहीं रहेगी।

क्या है स्कीम : लोन प्रोटेक्शन स्कीम एक टर्म इंश्योरेंस की तरह है। इममें बीमा की अवधि और रकम के हिसाब से आपका प्रीमियम तय होता है। अगर लोन लेने वाले व्यक्ति की मौत हो जाती है तो बकाये का भुगतान इसी बीमा से होता है। अगर आप लोन की पूरी अवधि तक सकुशल रहते हैं तो बीमा की रकम नहीं मिलती है। वहीं, अगर आपने बीमा का चयन नहीं किया है तो आपके बाद बैंक परिवार से बाकी रकम की वसूली करेंगे। आपने लोन के लिए कोई गारंटी रखी है तो उसे भी बैंक भुना सकते हैं।

अब 100 रुपये में खरीदें सोना, तनिष्क से कल्याण ज्वैलर्स तक त्योहारी सीजन में दे रहे हैं ऑफर

कैसे कराएं बीमा: आप जिस भी बैंक से पर्सनल, होम या कार लोन लेते हैं, वह खुद प्रोटेक्शन कवर के बारे में जानकारी देंगे। बैंक की ओर से इसकी एकमुश्त रकम की जानकारी दी जाएगी और हर माह किस्त से काटी जाती है। यह जरूरी नहीं है कि आप उसी बैंक से बीमा कवर भी लें, जिससे आपने होम लोन कराया है। आप स्वविवेक पर ये फैसला ले सकते हैं। कहने का मतलब ये है कि ह किसी भी तरीके से अनिवार्य नहीं है।