Dewas News: इंटरनेट मीडिया बना गुरु मोबाइल पर वीडियो देख स्कैच बनाना सीखा

Publish Date: | Fri, 01 Oct 2021 11:00 PM (IST)

देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के बालगढ़ के भाई बहन ने कोरोना लाकडाउन के समय का सदुपयोग किया। कोरोना की आपदा के समय को अवसर के तौर पर इस्तेमाल किया। स्कूल बंद थे, लेकिन दोनों में इंटरनेट मीडिया पर स्केच बनाना सीखा लिया है और अब कला में इतने माहिर हो गए हैं कि कुछ ही मिनट में ये किसी का भी स्कैच तैयार करते हैं।

आपदा को अवसर में बदलने की कहानी बालगढ़ के 10 साल के विवेक और उनकी 13 साल की बहन नेहा राठौर की है। जिन्होंने स्कूल बंद होने के बाद अपनी कला को निखारा। समय का सही उपयोग किया। दोनों भाई-बहन ने घर पर ही पेंसिल से स्केच बनाना शुरू किया। कोई गुरु नहीं था तो इंटरनेट मीडिया ही गुरु बनाया गया है। जिस पर उन्होंने स्कैच बनाना सीखा। तीन से चार माह लगातार अपने कला पर मेहतन कर हुनर को निखारा और प्रैक्टिस की। भाई-बहन कई बड़ी शख्सियतों के स्कैच पेंसिल से बना चुके हैं। उन्हें स्कैच तैयार करने में कुछ ही मिनट लगते हैं। पिता महेश राठौर ने बताया कि वे आदिम जाति कल्याण विभाग में पदस्थ हैं। लाकडाउन के खाली समय में स्कूल बंद थे। बच्चों का समय भी घर में बीत रहा था। धीरे धीरे उनकी रुचि स्कैच में जागी और कुछ माह तक प्रैक्टिस के बाद वे अपनी कला में पारांगत हो गए।

कलेक्टर से मिले, स्केच भेंट किया

दोनों भाई और बहन ने देवास कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला और डा एसपी शिवदयाल सिंह का भी स्केच बनाया है। कलेक्टर के साथ ही उन्होंने एसपी को उनके कार्यालय में स्कैच भेंट किए। अधिकारियों ने ने बच्चों के कार्यों को सराहा। इसके अलावा कलाकारों ने स्वामी विवेकानंद, डा भीमराव आंबेडकर, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद आदि महान हस्तियों के स्केच बनाए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local