Contact With Thugs Happened On Internet, 96 Thousand Withdrawn From Account – इंटरनेट पर हुआ ठगों से संपर्क, खाते से निकले 96 हजार

ख़बर सुनें

एक व्यक्ति ने सोफा बेचने के लिए ऑनलाइन एड पोस्ट किया और इंटरनेट पर ठगों के चंगुल में जा फंसा। सोफा तो बिका नहीं खाते से 96 हजार रुपये भी कट गए। मामले में डालनवाला थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।
जानकारी के अनुसार मुकुल आहूजा निवासी करनपुर ने सोफा बेचने के लिए क्विकर डाट काम पर विज्ञापन पोस्ट किया था। इसके बाद उन्हें एक कॉल आया। कॉल करने वाले ने खुद को पुराने बस अड्डे के बाद पास फर्नीचर शोरूम से जुड़ा बताया। इसके बाद दोनों के बीच सोफे का सौदा 18 हजार रुपये में हो गया। इसके बाद पीड़ित ने अपनी मेज और अलमारी बेचने के लिए फर्नीचर कारोबारी समझकर उनको फोटो भेजे। उसने अन्य सामान भी खरीदने को कहा। झांसा दिया कि उसके कर्मचारी सामान उठाने आ रहे हैं। वह इनका ऑनलाइन भुगतान कर रहा है। इसके बाद पीड़ित को गूगल पे के जरिए रुपये भेजने के कोड भेजे। पीड़ित ने उन पर आरोपी के कहे अनुसार किया तो उनके खाते से 96 हजार रुपये कट गए। इसके बाद उन्हें ठगी का अहसास हुआ तो साइबर थाने पहुंचे।

एक व्यक्ति ने सोफा बेचने के लिए ऑनलाइन एड पोस्ट किया और इंटरनेट पर ठगों के चंगुल में जा फंसा। सोफा तो बिका नहीं खाते से 96 हजार रुपये भी कट गए। मामले में डालनवाला थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार मुकुल आहूजा निवासी करनपुर ने सोफा बेचने के लिए क्विकर डाट काम पर विज्ञापन पोस्ट किया था। इसके बाद उन्हें एक कॉल आया। कॉल करने वाले ने खुद को पुराने बस अड्डे के बाद पास फर्नीचर शोरूम से जुड़ा बताया। इसके बाद दोनों के बीच सोफे का सौदा 18 हजार रुपये में हो गया। इसके बाद पीड़ित ने अपनी मेज और अलमारी बेचने के लिए फर्नीचर कारोबारी समझकर उनको फोटो भेजे। उसने अन्य सामान भी खरीदने को कहा। झांसा दिया कि उसके कर्मचारी सामान उठाने आ रहे हैं। वह इनका ऑनलाइन भुगतान कर रहा है। इसके बाद पीड़ित को गूगल पे के जरिए रुपये भेजने के कोड भेजे। पीड़ित ने उन पर आरोपी के कहे अनुसार किया तो उनके खाते से 96 हजार रुपये कट गए। इसके बाद उन्हें ठगी का अहसास हुआ तो साइबर थाने पहुंचे।