महिला विरोधी बॉलीवुड के डायलॉग्स, मुंबई पुलिस ने दबंग स्टाइल में लगाई क्लास – mumbai police used bollywood movie dialogues to convey Lets not normalise misogyny see post tmov

स्टोरी हाइलाइट्स

  • मुंबई पुलिस ने दिया मैसेज
  • शेयर किए फिल्मों के महिला विरोधी डायलॉग
  • मुंबई पुलिस बोली सावधानी से चुनें शब्द और एक्शन

मुंबई पुलिस सोशल मीडिया पर अपने मजाकिया अंदाज और जबरदस्त क्रिएटिविटी के लिए जानी जाती है. मुंबई पुलिस के सोशल मीडिया अकाउंट्स पर बॉलीवुड फिल्मों और एक्टर के मीम शेयर करने से लेकर बड़े मैसेज देने तक में माहिर है. ऐसे में अब मुंबई पुलिस के आधिकारिक इंस्टाग्राम हैंडल से बॉलीवुड की कई फिल्मों के सीन शेयर किए गए हैं. इस सीन्स के साथ मुंबई पुलिस ने एक जरूरी और बढ़िया मैसेज दिया है. 

मुंबई पुलिस ने फिल्मों के जरिए दिया बड़ा मैसेज 

मुंबई पुलिस के इंस्टाग्राम अकाउंट पर फिल्म कबीर सिंह से लेकर हम तुम्हारे हैं सनम और मालामाल तक के कई डायलॉग शेयर किए हैं. इन सभी फिल्मों के शेयर किए हुए सीन और डायलॉग महिला विरोधी हैं. इसके साथ मुंबई पुलिस ने मैसेज दिया है कि महिला विरोधी Misogyny या महिला विरोधी बातों को नॉर्मल तरह से देखना बंद करें वरना आपको कानून का सामना भी करना पड़ सकता है. 

मुंबई पुलिस ने इंस्टाग्राम पर फिल्मों के सीन की फोटो शेयर की है. इनपर फिल्मों के महिला विरोधी डायलॉग लिखा है. शाहिद कपूर और कियारा आडवाणी की ‘कबीर सिंह’ अकेली फिल्म है जिसका दो बार जिक्र है. पहले सीन में कबीर सिंह अपनी गर्लफ्रेंड प्रीति से कहता है, ‘प्रीति चुन्नी ठीक करो.‘ वहीं दूसरे में कबीर सिंह कहता है, ‘वो मेरी बंदी है.‘

क्या शाहरुख खान अभी भी हैं ‘दिल्ली वाला’? एक्टर ने दिया जवाब

”सावधानी से चुनें शब्द और एक्शन”

‘कबीर सिंह’ के अलावा जिन फिल्मों के सीन पर आपत्ति है उनमें ‘हम तुम्हारे हैं सनम’, ‘मालामाल’, ‘दिल धड़कने दो’, ‘दबंग’, ‘चश्मे बद्दूर’ और ‘उजड़ा चमन’ शामिल हैं. मुंबई पुलिस ने अपने पोस्ट के कैप्शन में लिखा- ‘सिनेमा हमारे साइज का आईना है. यहां (बहुत सारे में से) कुछ डायलॉग हैं जिस पर हमारे समाज और सिनेमा दोनों को विचार करने की जरूरत है. अपने शब्दों और एक्शन को सावधानी के साथ चुनें, वरना आपको कानून का सामना भी करना पड़ सकता है.‘ इसके साथ पोस्ट में #LetsNotNormaliseMisogyny, #MindYourLanguage, #WomenSafety जैसे हैशटैग का इस्तेमाल भी किया गया है. 

कैसा है शाहिद कपूर का मूड? डांस करते हुए शेयर किया फनी वीडियो

कबीर सिंह की हुई थी आलोचना

सिनेमा में कई फिल्मों में महिला विरोधी बातें कही और दिखाई जाती हैं, जिन्हें हम आम मान लेते हैं, जो असल में गलत हैं. समाज में भी हम सभी ने महिलाओं की भूमिका को लेकर कई गलत बातों को अपनाया हुआ है, जिन्हें बदले जाने की जरूरत है. हालांकि नए समय में नागरिक और सिनेमा के दीवाने महिला विरोधी बातों और कंटेंट को काफी हद तक रिजेट कर रहे है. 2019 में रिलीज हुई ‘कबीर सिंह’ को भी काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. फिल्म के लिए कहा गया था कि इसमें महिला विरोधी डायलॉग और व्यवहार का महिमामंडित किया गया है, जो गलत है.