अब सरकार के साथ कर पाएंगे बिजनेस, ई-कॉमर्स पोर्टल से होगी मोटी कमाई, घर बैठे मिलेंगे खरीदार | Government e market place portal for e commerce services to handicraft workers and handloom artisan know registration process

अब सरकार के साथ कर पाएंगे बिजनेस, ई-कॉमर्स पोर्टल से होगी मोटी कमाई, घर बैठे मिलेंगे खरीदार

GEM पोर्टल पर शुरू करें बिजनेस (सांकेतिक तस्वीर)

जीईएम की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. आपको यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना होगा. इसके लिए आधार, पैन, ईमेल और मोबाइल नंबर देना होगा. लॉगिन बनाने के बाद जीईएम पोर्टल पर अपने ऑफिस का पता, काम का विवरण, माल उत्पादन आदि की जानकारी देनी होगी.

TV9 Hindi

सरकार आपको बिजनेस करने का मौका देने जा रही है. अब छोटे स्तर पर बिजनेस करने वालों को ग्राहकों के लिए टकटकी लगाने की जरूरत नहीं होगी. अब वह दिन दूर नहीं जब ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म बड़े-बड़े बिजनेसमैन के लिए प्लेटफॉर्म माने जाते थे. सरकार ने देश के बुनकरों और कारीगरों को ई-कॉमर्स के जरिये बाजार उपलब्ध कराने के लिए जीईएम प्लेटफॉर्म या गवर्मेंट ई-मार्केटप्लेस प्लेटफॉर्म से जोड़ने जा रही है.

बुनकरों और कारीगरों को ई-कॉमर्स से बाजार मुहैया कराने के लिए सरकार ने एक अभियान शुरू किया है. इस अभियान के तहत बुनकर और कारीगर अपने उत्पादों को सीधे सरकारी विभागों को बेच सकते हैं. इससे कारीगरों, बुनकरों, सूक्ष्म उद्यमियों, महिलाओं, आदिवासी उद्यमियों और स्वयं सहायता समूहों जैसे उन विक्रेता समूहों की भागीदारी बढ़ेगी, जिन्हें सरकारी बाजारों तक पहुंचने में चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. इसके लिए सरकार ने अपने सभी विभागों को जीईएम यानी कि गवर्मेंट ई-मार्केटप्लेस से जोड़ा हुआ है जहां छोटे बिजनेसमैन अपना सामान बेच सकेंगे.

क्या है GEM पोर्टल

सरकार की तरफ से चलाया जाने वाला GEM एक ऑनलाइन बाजार है जिससे कोई भी व्यक्ति घर बैठे जुड़ सकता है. इस ऑनलाइन पोर्टल पर पहले आपको रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके बाद सरकारी विभाग की डिमांड के हिसाब से अपने उत्पादों की सप्लाई कर सकेंगे. इसके अंतर्गत सरकारी विभाग उन विभागों से संपर्क में रहती हैं जिन्हें उत्पादों की जरूरत होती है. कोई भी व्यक्ति जो सही उत्पादन कर रहा है और सरकारी की ओर से निर्धारित स्टैंडर्ड का सामान बना रहा है, वह जीईएम पोर्टल पर अपना माल बेच सकता है.

मान लीजिए आप कोई प्रिंटर बना रहे हैं और उसे बेचना चाहते हैं तो आपको जीईएम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. जिस सरकारी विभाग को प्रिंटर की जरूरत होगी, वह आपसे संपर्क करेगा और आपका उत्पाद खरीदेगा. खरीद का काम टेंडर के जरिये होगा. कोई सरकारी विभाग प्रिंटर खरीदने के लिए टेंडर निकालता है तो आप उसे भरकर अपना माल बेच सकते हैं.

कैसे करें रजिस्ट्रेशन

इसके लिए जीईएम की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. आपको यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना होगा. इसके लिए आधार, पैन, ईमेल और मोबाइल नंबर देना होगा. लॉगिन बनाने के बाद जीईएम पोर्टल पर अपने ऑफिस का पता, काम का विवरण, माल उत्पादन आदि की जानकारी देनी होगी. जीईएम पोर्टल के डैशबोर्ड पर उत्पाद का सेक्शन दिखता है जहां आपको अपने प्रोडक्ट का चयन करना होगा जिसे आप बनाना और बेचना चाहते हैं. रजिस्ट्रेशन के लिए और क्या करना होगा, इसके लिए आप www.gem.gov.in पर विजिट कर सकते हैं.

क्या चाहिए दस्तावेज

जीईएम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपके पास आधार, पैन और एमसीए21 पंजीकरण, वैट टिन नंबर, बैंक खाता और केवाईसी में लगने वाले पहचान पत्र होने चाहिए. इसके साथ ही आवास प्रमाण और कैंसिल चेक होना चाहिए. रजिस्ट्रेशन कराने के बाद किसी भी उत्पाद की खरीद की जानकारी मोबाइल फोन पर मैसेज और ईमेल पर दी जाएगी. इससे आप सरकारी कंपनियों में अपनी सर्विस भी दे सकते हैं.

जीईएम पोर्टल पर 30 अगस्त 2021 तक 28,300 कारीगरों और 1,49,422 बुनकरों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है. सरकार के इस पहल के अंतर्गत लगभग 35 लाख हैंडलूम वर्कर और 27 लाख हैंडीक्राफ्ट कारीगरों को बाजार उपलब्ध कराना है ताकि वे आसानी से अपना माल बेच सकें. ई पोर्टल के जरिये बिजनेस में बिचौलियों का काम खत्म करने की तैयारी है. इससे आत्मनिर्भर भारत की दिशा को भी तेजी मिलेगी.

ये भी पढ़ें: फेडरल बैंक ने NPCI के साथ लॉन्च किया ‘रुपे सिग्नेट क्रेडिट कार्ड’, ग्राहकों को मिलेंगी ये नई सुविधाएं